दलालों ने बचपन बेच डाला, फैक्ट्री से बची जान तब बिहार बोर्ड में मचाया धमाल

0
2

Bihar Board 10th Result: चूड़ी फैक्ट्री में काम करने के दौरान एक एनजीओ और पुलिस के सहयोग से गया के कुछ बच्चों का रेस्क्यू किया गया और बाल सुधार गृह में रखा गया. यहां इनकी पढाई की व्यवस्था की गई, फिर घर भेज दिया गया. अब उन बच्चों ने मैट्रिक की परीक्षा में शानदार सफलता हासिल की है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें