न रोटी-सब्जी, न चावल-दाल और न ही फल… फिर कैसे 3 महीने से जिंदा है यह शख्स?

0
3

तारकेश्वर मिश्रा गांव में रहते हैं और 18 फरवरी से उपवास कर रहे हैं. इस बीच, हाल ही में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह फिलहाल भगवान शनिदेव के मंदिर के लिए साधना में लीन हैं. वह गांव में जिस स्थान पर अभी यह साधना कर रहे हैं, उसी स्थान पर शनिदेव का मंदिर बनवाना चाहते हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें