पारंपरिक खेती को छोड़कर फलदार पौधों की खेती किसानों को आ रही रास, जानें क्यों

0
13

किसान मोहम्मद कमरुद्दीन बताते हैं कि उनकी पढ़ाई नवमी कक्षा तक की हुई है और वह 1975 से ही खेती-बाड़ी का काम कर रहे हैं लेकिन पारंपरिक खेती से उतनी अच्छी कमाई नहीं होती थी, जिससे घर गृहस्थी अच्छी तरह चल सके.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें