बिहार लोकसभा चुनाव: कैंडिडेट लिस्ट में दिख रहा जातिगत गणना का असर

0
3

Loksabha Election: जातिगत गणना के बाद बिहार में सबसे बड़ी जातीय समूह के तौर पर अति पिछड़ा समाज सामने आया है. उसके बाद OBC और दलित के साथ-साथ मुस्लिम और सवर्ण समाज. जाहिर है कि राजनीतिक दलों के सामने सबसे बड़ी चुनौती है इस समीकरण को साधने की.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें