विटामिन का खजाना है ये फल, बाजार में ताइवानी नस्ल की बड़ी डिमांड, कम लागत….

0
6

पिंटू ने बताया कि साल 2020 से पपीते की खेती कर रहे हैं. पहले पांच एकड़ में पपीते की खेती कर रहे थे, लेकिन अब एक एकड़ में पपीते की खेती कर रहे है. जमीन के शेष हिस्से में अब सीजनल फसल की खेती करते हैं. इससे दोहरी कमाई हो जाती है. उन्होंने बताया कि एक एकड़ मेंरेड लेडी-786 किस्म के पपीते की खेती कर रहे हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें