सरकारी नहीं.. कच्चे मकान में रहते थे ये सांसद, चंदे के पैसे से लड़ा था चुनाव..

0
2

आज भले ही चुनाव के दौरान प्रत्याशी अपने पक्ष में प्रचार के लिए लाखों रुपए खर्च कर देते हैं, लेकिन एक वक्त ऐसा था जब चुनाव प्रचार के लिए इतने पैसे नहीं लगते थे. बिहार में एक ऐसे भी सांसद हुए, जिन्होंने चंदे से पैसा जुटा कर अपना चुनाव लड़ा था और सांसद बन गए थे. सांसद बनने के बाद भी पूरे जीवन कच्चे खपरैल के मकान में रहे. (गुलशन कश्यप/जमुई)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें