रामलला के लिए countless gifts में 6 amazing gifts

0
278
laddus

22 जनवरी के कार्यक्रम के दौरान अयोध्या स्थित राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के मौके पर देश-विदेश से Ramlala के लिए gifts भेजे जा रहे हैं. रामलला की Pran Pratishtha ceremony का उत्साह देश भर में बना हुआ है. इस मौके को और खास बनाने के लिए देश भर से लोग उपहार भेज रहे हैं. नेपाल के जनकपुर में मां सीता की जन्मभूमि से भगवान राम के लिए 3,000 से अधिक उपहार अयोध्या पहुंचे हैं. श्रीलंका का एक प्रतिनिधिमंडल भी अशोक वाटिका से एक विशेष उपहार के साथ अयोध्या आया है.
राम मंदिर में भेजी जाने वाले वैसे अनगिनत उपहारों में कई उपहार ऐसे हैं, जिन्हें जानकर हर कोई हैरान रह जाएगा. इनमें से भेजे जानेवाले 6 amazing gifts है :

१. 200 किलो लड्डू :

राम मंदिर, अयोध्या में श्रीकृष्ण जन्म भूमि मथुरा से भेजे जानेवाले 200 kg laddus है, जो कि करीब १.८ लाख laddus हुए. ये laddus मेवा , मिश्री और केसर से तैयार होंगे जो कि काफी स्वादिष्ट होंगे.


२. 108 फीट लंबी अगरबत्ती :

अगरबत्ती का वजन 3610 किलो है और यह 3.5 फ़ीट चौड़ी है। यह incense stick 50 किलोमीटर के क्षेत्र को सुगंधित करेगी। वडोदरा से अयोध्या ले जाई जा रही 108 फीट लंबी incense stick सोमवार को भरतपुर पहुंची. राम भक्तों ने अगरबत्ती पूजा अर्चना की और जय श्री राम के नारे लगाए. अगरबत्ती बनाने वाले विहा भाई ने इस incense stick की खासियत और लागत बताई. यह 45 दिन तक जलती रहेगी , इसे गाय के घी , गाय के गोबर के कंडे , हवन सामग्री और जड़ी-बूटियो का इस्तेमाल कर बनाया है. इसकी लागत करीब 5 लाख रूपए है.

३. 2100 किलो का घंटा :

2100 kg bell अष्टधातु से बनाया गया है। इससे निकलने वाले आवाज अद्भुत होगी। जो दूर-दूर तक लोगों को सुनाई देगी। घंटा निर्माण में करीब 25 लाख रुपये की लागत आई है।आकार में यह छह फीट ऊंचा और पांच फीट चौड़ा है। करीब चार साल में एटा के जलेसर में इस विशाल घंटे का निर्माण किया गया है। घंटे के दर्शन, पूजन करना का बाद 8 जनवरी को इसे अयोध्या पहुंचा दिया गया।

४ . 10 फीट ऊंचा ताला और चाबी :

यूपी के अलीगढ़ के एक कारीगर ने अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर के लिए 400 kg lock बनाया है। ये ताला लगभग 10 फीट ऊंचा, 4.6 फीट चौड़ा और 9.5 इंच मोटा है। ताला बनाने वाले सत्य प्रकाश शर्मा ने इसे “दुनिया का सबसे बड़ा हस्तनिर्मित ताला” बताया है।

५ . 1100 किलो का दीपक :

गुजरात से special lamp आया है। इस दीपक का भार 11 सौ किलोग्राम है।मकरपुरा जीआईडीसी में 1100 किलोग्राम वजन का एक विशाल दीपक बनाया है. अरविंद भाई पटेल ने बताया कि इस 1100 kg lamp की ऊंचाई 9.15 फीट और परिधि आठ फीट है. आधार की परिधि लगभग पांच फीट है. Special lamp जलाने के लिए 15 किलो कपास की बाती जलानी पड़ती है. जिसके लिए चार फीट का मसाला भी तैयार कर लिया गया.

६. ४४ फीट का धवज दंड :

44 फीट का ध्वज दंड जमीन से 220 फीट ऊंचाई पर लहराएगा। 22 जनवरी को प्रधानमंत्री flag pole में धर्म ध्वजा लगाएंगे। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की अनुमति के साथ एलएंडटी ने इस flag pole का निर्माण कराया है। इस ध्वज दंड को अहमदाबाद की अंबिका इंजीनियरिंग कंपनी ने नौ महीने में तैयार किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें